नवरात्रि के दौरान इन मंदिरों में उपस्थित रहती हैं देवी माँ !


नवरात्रि के दौरान इन मंदिरों में उपस्थित रहती हैं देवी माँ !
                       नवरात्रि दौरान जहाँ एक तरफ सभी घरों में देवी दुर्गा की विधि पूर्वक पूजा की जाती है वहीं माँ के कुछ प्रसिद्ध मंदिरों में भी खासतौर से इस दौरान पूजा अर्चना की जाती है। प्रचंड आस्था और विश्वास के इस पर्व के दौरान देवी माँ के विभिन्न रूपों की उपासना की जाती है। हमारे देश में देवी माँ के मान्यता प्राप्त बहुत से ऐसे मंदिर हैं जहाँ उनकी पूजा अर्चना को ख़ासा महत्व दिया जाता है। इसके साथ ही साथ ऐसी मान्यता है कि, इन मंदिरों में नवरात्रि के दौरान देवी अदृश्य रूप से उपस्थित रहती हैं। आइये जानते हैं देवी के असीम चमत्कारों के वाले इस मंदिर के बारे में।

देश के इन प्रसिद्ध मंदिरों में रहती है नवरात्रि के दौरान देवी माँ की उपस्थिति
वैष्णो देवी
                       हिन्दू धर्म के प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों में से एक जम्मू के कटरा स्थित वैष्णो देवी मंदिर की महिमा को अपरंपार माना जाता है। यहाँ गुफा में विराजित देवी माँ के दर्शन के लिए दूर-दूर से भक्त आते हैं। वैसे तो भक्तों को यहाँ देवी माँ के दर्शन करने आने के लिए किसी ख़ास अवसर की दरकार नहीं होती लेकिन नवरात्रि के दौरान विशेष रूप से यहां भक्तों की अपार भीड़ नजर आती है। इस मंदिर की ऐसी मान्यता है कि, यहाँ नवरात्रि के दौरान देवी माँ अदृश्य रूप से उपस्थित रहती हैं और भक्तों को अपना आशीर्वाद देती हैं।

मनसा देवी मंदिर
                       उत्तराखंड के हरिद्वार में स्थित मनसा देवी मंदिर भी आपने चमत्कारों के लिए देश भर में प्रसिद्ध है। बता दें कि, इस मंदिर का नाम मनसा देवी इसलिए पड़ा क्योंकि यहाँ आने वाले भक्तों की सभी मनोकामनाओं को देवी माँ जरूर पूरी करती हैं। इस मंदिर के प्रांगण में खासतौर से एक पेड़ है जहाँ लोग अपनी मन्नत का धागा बांधते हैं और मन्नत पूरी होने के बाद उसे खोल लेते हैं। देवी के इस मंदिर में नवरात्रि के दौरान विशेष रूप से भक्तों की भीड़ लगी रहती है। इस मंदिर की ऐसी मान्यता है कि, यहाँ माता नवरात्रि के दौरान भक्तों को आशीर्वाद देने के लिए उपस्थित रहती हैं।

ज्वाला जी मंदिर
                       हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में स्थित ज्वाल देवी के मंदिर को भी विशेष महत्ता प्राप्त है। इस मंदिर में देवी माँ के नौ रूपों के निमित्त ज्योत जलाई जाती है। ऐसी मान्यता है कि, इस मंदिर में देवी माँ के नौ रूपों के दर्शन भक्तों को एक साथ हो जाते हैं। बता दें कि, माता के इस मंदिर को ज्योता वाली माता का मंदिर भी कहा जाता है। शारदीय नवरात्रि के दौरान यहाँ भक्त विशेष रूप से देवी माँ के दर्शन के लिए आते हैं और उनके लिए ज्योत जलाते हैं।

करणी माता मंदिर
                       देश में स्थित देवी माँ के विभिन्न मंदिरों में से एक बीकानेर स्थित करणी माता का मंदिर भी है। माता के इस मंदिर की विशेषता ये है की यहाँ करीबन बीस हज़ार से भी ज्यादा चूहे रहते हैं। यहाँ स्थापित करणी माता को माँ जंगदम्बा का रूप माना जाता है। यहाँ दुर्गा पूजा के दौरान देवी के दर्शन के लिए असंख्य संख्या में भक्तों का जमावड़ा लगता है।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां