ये हैं हनुमान जी के पांच प्रसिद्ध मंदिर जहाँ भक्तों की हर मनोकामना होती है पूरी !


ये हैं हनुमान जी के पांच प्रसिद्ध मंदिर जहाँ भक्तों की हर मनोकामना होती है पूरी !
                     हिन्दू धर्म में मंगलवार के दिन को मुख्य रूप से पवन पुत्र हनुमान का दिन माना जाता है। इस दिन सभी हिन्दू देवी देवताओं में से हनुमान जी की पूजा अर्चना की जाती है। बल, बुद्धि और विद्या के प्रदाता श्री हनुमान जी की पूजा अर्चना के लिए मंगलवार के दिन खासतौर से देश के विभिन्न हनुमान मंदिरों में अपार भीड़ देखी जा सकती है। आज हम आपको मुख्य रूप से देश के पांच ऐसे हनुमान मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जहाँ सच्चे मन से उनकी आराधना करने से आपके सभी मनोकामनाओं की पूर्ति हो सकती है। आइये जानते हैं, देश के उन प्रसिद्ध हनुमान मंदिरों के बारे में।

ये हैं देश के वो प्रसिद्ध पांच हनुमान मंदिर
हनुमान दंडी मंदिर
                     बता दें कि, गुजरात स्थित हनुमान दंडी मंदिर में हनुमान जी की प्रतिमा मकरध्वज के साथ स्थापित है। इस मंदिर के बारे में ऐसा कहा जाता है कि यहाँ रामायण काल में अहिरावण ने श्री राम और लक्ष्मण को छुपा कर रखा था। उनपर नजर रखने के लिए अहिरावण ने मकरध्वज को कहा था। मान्यता है कि, हनुमान जी जब राम और लक्ष्मण को ढूंढते हुए वहां पहुंचे तो मकरध्वज के साथ उनका भीषण युद्ध हुआ। इस युद्ध में बेशक हनुमान जी की जीत हुई लेकिन सालों बाद जब यहाँ मंदिर का निर्माण करवाया गया तो हनुमान जी के साथ ही मकरध्वज की प्रतिमा भी स्थापित की गयी। कहते हैं की यहाँ आने वाले भक्तों की हर मनोकामना को हनुमान जी जरूर पूरी करते हैं।

संकट मोचन मंदिर
                     देश भर में हनुमान जी के विभिन्न प्रसिद्ध मंदिरों में से एक उत्तरप्रदेश वाराणसी का संकटमोचन मंदिर भी है। इस मंदिर के बारे में ऐसा कहा जाता है कि, इसकी उत्पत्ति तुलसीदास जी के कठोर तप और जाप के बाद हुई थी। इस मंदिर को संकट मोचन नाम इसलिए दिया गया क्योंकि यहाँ आने वाले भक्तों के सभी समस्याओं का निजात हनुमान जी कर देते हैं। बनारस का ये हनुमान मंदिर वहां के कुछ प्रसिद्ध प्राचीन मंदिरों में से एक है।

बालाजी हनुमान मंदिर
                     राजस्थान के चूरू जिले के सालासर नामक गावं में स्थित बालाजी हनुमान मंदिर को देश के प्रमुख हनुमान मंदिरों में से एक माना जाता है। इस मंदिर को सालासर वाले हनुमान जी के मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। इस मंदिर के बारे में लोगों का ऐसा मानना है कि यहाँ जो कोई भी श्रद्धाभाव के साथ हनुमान जी की पूजा अर्चना के लिए आता है उसकी झोली कभी खाली नहीं होती। हनुमान भक्ति में डूबा ये पूरा इलाका विशेष रूप से हर मंगलवार के दिन यहाँ हनुमान जी की भव्य आरती का आयोजन करता है।

तेलांगना हनुमान मंदिर
                     इस हनुमान मंदिर को सबसे अनोखे हनुमान मंदिरों में से एक माना जाता है। इसके पीछे मुख्य वजह यह है कि यहाँ हनुमान जी के साथ ही उनकी पत्नी की प्रतिमा भी स्थापित है। जहाँ एक तरफ हिन्दू धर्म में हनुमान जी को विशेष रूप से बाल ब्रह्मचारी माना गया है, वहीं तेलांगना के खम्मन जिले में हनुमान जी के विवाहित रूप की पूजा की जाती है। यहाँ के लोगों की ऐसी मान्यता है कि, हनुमान जी का विवाह सुवर्चला से हुई थी। इसलिए इस हनुमान मंदिर में हनुमान जी के साथ ही साथ उनकी पत्नी की भी पूजा की जाती है। इस मंदिर के बारे में लोगों का ऐसा विश्वास है कि, यहाँ हनुमान जी की पूजा अर्चना करने से व्यक्ति का वैवाहिक जीवन सुखमय बीतता है।

पावन धाम मंदिर
                     छत्तीसगढ़ के बिलासपुर शहर में स्थित हनुमान जी का पावन धाम मंदिर भी देश के प्रसिद्ध हनुमान मंदिरों से एक माना जाता है। बता दें कि, ये हनुमान मंदिर देश का एक मात्र ऐसा हनुमान मंदिर है जहाँ हनुमान जी के नारी स्वरुप की पूजा की जाती है। बिलासपुर के रतनपुर नाम के जगह पर स्थित इस हनुमान मंदिर को बेहद अनोखा माना जाता है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ