November, 2019 की पोस्ट दिखाई जा रही हैंसभी दिखाएं
इस मंदिर में मूर्ति से पसीना निकलने का मतलब है मां से मांगी गई मनोकामना पूरी होगी।
एक ऐसा मंदिर जहां भगवान शिव के अंगूठे की होती है पूजा!
डाकुओं ने बनवाया था यह मंदिर, यहां माता को लगाया जाता है मदिरा का भोग!
एक किला जिसकी छत ज़मीन के अंदर धसी हुई है और आधार आसमान की ऒर देख रहा है!! क्या उल्टा किला वास्तव में उल्टा है या फिर यह हमरा भ्रम है?
चंबल नदी के पास स्थित चतुर्भुज नला साइट के चट्टानों में दस हज़ार साल पुरानी चित्रों से शतरंज खेल की और पहिये के उपयॊग किये जाने का साक्ष्य!!
प्रभु भक्ति नहीं भाव से दर्शन देते हैं।
ओरछा के इस मंदिर में विराजे हैं अयोध्या राम मंदिर के प्रभु श्रीराम।
विदेश जाने की इच्छा रखने वाले भक्तों की मुराद इस मंदिर में होती है पूरी!
भगवान शिव के इस धाम में मौजूद हैं करोड़ों शिवलिंग!
ज़्यादा पोस्ट लोड करें कोई परिणाम नहीं मिला