नेटफ्लिक्स ने हिंदू विरोधी बनाया फ़िल्म, जोरों उठी बेन करने की मांग - "अश्वमेध भारत"

Top 10 News

रविवार, 15 सितंबर 2019

नेटफ्लिक्स ने हिंदू विरोधी बनाया फ़िल्म, जोरों उठी बेन करने की मांग


नेटफ्लिक्स ने हिंदू विरोधी बनाया फ़िल्म, जोरों उठी बेन करने की मांग

                  नेटफ्लिक्स (Netflix) एक अमेरिकन ऑनलाइन मीडिया स्ट्रीमिंग कंपनी, ने एक शो का ट्रेलर रिलीज़ किया है। इस शो में एक ऐसे काल्पनिक भविष्य की कल्पना की गई है जहाँ ‘हिन्दू राष्ट्रवादियों’ का राज्य की मशीनरी पर कब्जा हो जाता है।
                  जो ट्रेलर अभी रिलीज किया गया है, उसमें एक हिन्दू महिला मुस्लिम पुरुष से शादी करती है, उससे पैदा हुई लड़की का नाम ‘लैला’ है। बेटी, हिन्दू राष्ट्रवादियों द्वारा उससे दूर कर दी जाती है क्योंकि मुस्लिम पिता होने के कारण वह ‘शुद्ध’ नहीं है। तब मुख्य किरदार का आगमन होता है जो उसे राज्य द्वारा संचालित एक शिक्षा केंद्र में भेज देता है जहाँ लोगों का ब्रेन वाश किया जा रहा है।

                  पूरे ट्रेलर में हिन्दू प्रतीकों का नकारात्मक तरीके से खूब इस्तेमाल हुआ है। ‘जय आर्यावर्त’ उस काल्पनिक अराजक राज्य का नारा है। जहाँ पर लोगों के साथ धर्म के नाम भेदभाव हो रहा है। जिसे राज्य का संरक्षण प्राप्त है। यहाँ तक इस कहानी का खलनायक भी हिन्दू प्रतीकों से लदा है।
                  ट्रेलर देखकर ये साफ पता चल रहा है कि पूरे शो में एंटी हिन्दू प्रोपेगेंडा की भरमार है। सब कुछ बड़ी चालाकी से वर्तमान सरकार को ध्यान में रखकर, लोगों को एक काल्पनिक माहौल से डराने के लिए इस तरह के शो बनाए जा रहे हैं। वैसे भी तथाकथित ‘लिबरल्स’ बहुत पहले से ही ‘मोदी फोबिया’ से ग्रसित हैं। और हर तरह से देश में एक नकारात्मक माहौल बनाने और दहशत फैलाने में लगे हैं।
                  यह पहली बार नहीं है, जब नेटफ्लिक्स ने हिन्दू भावनाओं से खिलवाड़ किया है। उनकी छवि को नकारात्मक तरीके से पेश किया गया हो। एंटी हिन्दू नैरेटिव को स्थापित करने का प्रयास नेटफिक्स लगातार कर रहा है। ‘Ghoul’ और  Sacred Games’ के बाद ‘लैला’ के रूप में यह तीसरा प्रयास है। इसका निर्देशन दीपा मेहता, शंकर रमन और पवन कुमार ने किया है। शो प्रयाग अकबर के नॉवेल पर आधारित है।
                  अमेरिकन कंपनी के वेब सीरिज के माध्यम से लगातार एंटी-हिन्दू सामग्री दिखाने पर लोगों ने Netflix को है Boycott करना शुरू किया है। सोशल मीडिया के जरिए लोग नेटफ्लिक्स को (#BanNetflixInIndia) देश में बैन करने की मांग कर रहे हैं।
                  हिन्दू फोबिया से ग्रसित नेटफ्लिक्स को सोशल मीडिया पर यूजर्स जमकर ट्रोल किया। नेटफ्लिक्स के प्रत्येक वेब सीरिज में हिन्दू भावनाओं का अपमान किया गया है, इसके विरोध में शुक्रवार को ट्विटर पर #BanNetflixInIndia का ट्रेंड चला। नेटफ्लिक्स को भारत में बैन करने के संबंध में 50  हजार से ज्यादा ट्वीट किए जा चुके हैं।
                  सुदर्शन न्यूज़ चैनल के संपादक सुरेश चव्हाणके ने लिखा कि सांस्कृतिक आतंकवाद के सबसे बडे प्लेटफार्म @netflix जैसे डिजिटल कंटेंट प्रोवाईडर पर कड़ी नीति बनने की आवश्यकता है । @NetflixIndia @altbalaji @PrimeVideoIN और ऐसे कई अन्य षड्यंत्रों को तत्काल बंद किया जाए
                  हिन्दू जागृति समिति के प्रवक्ता चेतन राजहंस ने बताया कि हम Netflix पर भारत में पाबंदी लाने की मांग करते है ! https://twitter.com/Rajc_/status/1169840710117289984?s=20
                  गिरीश अलवा का कहना है कि वेब सीरिज लैला में हिन्दुओं को तालिबानियों की तरह दिखाया गया है। सेक्रेड गेम्स २ में गुरु और शिष्य के संबंध को गलत तरीके से दिखाया है। इसके अलावा आश्रमों की छवि को खराब किया गया है। इसी तरह सिख पुलिस कॉप बने सैफ अली खान हाथ के कडें को फेंकते हुए दिखाए गए हैं। जो कि सिख अनुयायियों की भावनाओं का अपमान है।
                  नेटफ्लिक्स की नई वेब सीरिज मैंगो ड्रीम्स में भारत के नक्शे को गलत दिखाया गया है। जम्मू-कश्मीर को पाकिस्तान का हिस्सा दिखाया गया है। भारत का गलत नक्शा देख लोगों का गुस्सा फुटा है।
                  नेटफ्लिक्स और इसकी सीरिज लगातार विवादों में है। सैफ अली खान के कड़े को फेंकने को लेकर भाजपा नेता तेजिंद्र पाल बग्गा की आेर से अनुराग कश्यप के खिलाफ पुलिस में पहले ही मामला दर्ज कराया गया है।
                  नेटफ्लिक्स पर बैन को लेकर अब सेलिब्रिटी भी आगे आ गए हैं। अभिनेत्री पायल रोहतगी ने ट्विट कर पूछा है कि क्या नेटफिल्स जिहाद पर भी फिल्म बनाएगा ? जहां पर बहुत सारे स्क्रिप्ट को लेकर विचार हैं लेकिन दुर्भाग्य से यह सनातन धर्म से संबंधित नहीं है। लेकिन शायद आप भारत में अच्छा व्यवसाय करें। इसके साथ अभिनेत्री ने भी नेटफ्लिक्स पर बैन लगाने का समर्थन किया है।
                  बता दें कि, हिन्दू नॅशनलिस्ट शिवसेना के आयटी सेल के सदस्य समेश सोलंकी ने बुधवार (४ सितंबर) को ने नेटफ्लिक्स के विरोध में एलटी मार्ग पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई थी। अपनी शिकायत में उन्होने कहा है कि अमेरिका की कंपनी नेटफ्लिक्स हिन्दुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचा रही है। वेब सीरीज सेक्रेड गेम्स, लैला और घुल का उदाहरण देते हुए कहा है कि इन सीरियल्स में हिन्दुओं और भारत का गलत चित्रण किया गया है। शिकायत में कॉमेडियन हसन मिनहाज के शो का भी उल्लेख किया गया है।
                  नेटफ्लिक्स हिंदू विरोधी तो है साथ में देशविरोधी भी है। देशवासियों को इसका बहिष्कार करना चाहिए और भारत सरकार को इसपर तुरंत प्रतिबन्ध लगा देना चाहिए।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें