शौर्य दिवस - ६ दिसंबर ।


                               कुछ हिन्दुओ को पता नहीं की कल हम लोग शौर्य/भगवा दिवस क्यों मनाते है। वो जान लेँ । सन १५२७ में मुगल वंश का तुर्क लुटेरा बाबर ने अयोध्या में श्रीराम मंदिर को हिँदुओँ का खून बहाकर/मारकर तोडा था और वहा मस्जिद बनबाया था.. बाबर ने उस मस्जिद का नाम बाबरी मस्जिद रखा था .! बाबर बड़ा क्रूर था... जब बाबर ने श्रीराम जी का मंदिर तोड़ा था तो उसके साथ उसने हजारो हिन्दुओ का खून भी बहाया था..! हिन्दुओ के देश हिंदुस्तान में ही हिन्दुओ के आराध्य श्रीराम का मंदिर गिराकर वह मस्जिद की स्थापना होना..उससे बड़ी शर्म की बात हिन्दुओ के लिए कोई नहीं थी...! इसलिए इसके बदले में ६ दिसंबर १९९२ मे हिंदुत्ववादी संघटनो ने बाबरी मस्जिद को गिरा कर श्रीराम जन्म भूमि को आजाद किया था..! इस दिन को मुस्लिम ब्लैक डे कहा कर संबोधित करते है...और इसी दिन हिन्दू शौर्य /भगवा दिवस मनाते है.! तो इसलिए आप सभी को शौर्य दिवस की हार्दिक शुभकामनये.. अयोध्या तो बस झांकी है..मक्का मदीना अभी बाकी है.! रामलला हम आएंगे... मंदिर वही बनाएंगे.... _^_जय श्रीराम_^_
ॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐ

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.