LATEST NEWS

recent

संसार की पोल।

एक आदमी रात्रि समय गिरनार के जंगल से जा रहा था । चांदनी रात थी । मार्ग में एक भालू मिल गया । भालू ने उस पर हमला कर दिया । भालू दो पैरो पर खड़ा होकर मुंह पर पंजा मारता है । वह आदमी जानता था कि जब भालू मारने को आये तो पंजे को पकड़ लेना चाहिए ,इसीलिए उसने भालू के पंजे को पकड़ लिए। उस आदमी के सिर पे एक गठरी थी ,जिसमे चांदी के रूपये थे । वह आदमी २-४ महीना काम करके अपने गांव को जा रहा था । भालू ने पंजे मारे तो वे सीधे गठरी पर पड़े ,जिससे गठरी में से रूपये गिरने लगे । वह आदमी भालू का पंजे पकड़कर उससे जूझने लगा और सोचने लगा कि भालू को कैसे और कहा फेंकू ? इतने में दूसरा राहगीर आया , बोला :क्या है ? क्या है ?”इस ने सोचा :अभी कहूँगा क़ि भालू ने पकड़ा है भालू से मेरी जान छुड़ाओ , तो यह भाग जायेगा । वह बोला :देखो ,भालू को हिलाता हूँ तो यह चाँदी के रुपये गिरता है दूसरे भालू तो केवल लीद करते है पर यह लीद के साथ चांदी के रुपये ,तुम्हारी गिरा रहा है । इतना तो मैंने गिरवाये है ,अब तुमको गिरवाने हो तो तुम भी पकड़कर गिरवा लो ,तुम्हारी मर्जी !” दूसरा बोला :”अच्छा लाओ ” । पहले ने उसको पकड़ा दिया और खुद कुछ रूपये चुन कर भाग गया । अब इसे पता चला कि “मैं तो फंस गया “। सोचने लगा कि “अब इससे कैसे पीछा छुड़ाऊँ ! वह भी परेशान हो गया । इतने में कोई तीसरा राहगीर निकला । उसने भी वैसे ही पूछा :”क्या है ,क्या है ? दूसरा बोला :यह अपनी लीद में चांदी के रूपये निकालता है । इतने तो मैंने निकलवाये है जो यहाँ पड़े दिख रहे है ,अब तुम को भी चाहिए तो तुम भी निकलवा लो । ” तीसरा ने पकड़ लिया । ये दूसरे ने गिरे हुए रूपये चुने और भाग गया । ऐसा ही चौथा आया भालू पकड़ा के भागते ,उसने भी पकड़ा । इस तरह वे एक -दूसरे को भालू पकड़ा के भागते गए । ऐसे ही यह कुल -परंपरा है। …… राजकाज, नौकरी, घर आदि बाप कहता है : बेटा ! अब तू बड़ा हो गया है ,यह जिम्मेदारी संभल ले “सास कहती है :”बहुरानी ! अब तू घर का काम काज संभल ले । बेटी !तू संभाल ले । ” ये सब तो भालू पकड़ने की बातें है । मुक्त होने की बात कोई नहीं कहेगा । उनसे छुड़ाने का सामर्थ्य भी नहीं है । संसार रूपी भालू से तो केवल परम कृपालु सद्गुरु ही छुड़ाते है ।
संसार की पोल। Reviewed by Admin on अक्तूबर 09, 2014 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

anandkrish16 के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.