पर्व मांगल्य : गोपाष्टमी - गौ पूजन से सौभाग्यवृद्धि।

अक्तूबर 31, 2014
गौ पूजन से सौभाग्यवृद्धि कार्तिक शुक्ल अष्टमी को 'गोपाष्टमी' कहते हैं l यह गौ-पूजन का विशेष पर्व है l इस दिन प्रातः काल गायों...Read More

भारत के पतन का कारण-अविवेकी अहिंसा का आचरण।

अक्तूबर 31, 2014
भारत के पतन का कारण-अविवेकी अहिंसा का आचरण। भारत जो कभी विश्वविजेता था, सम्पूर्ण विश्व जिसके ज्ञान - विज्ञान और शक्ति के सामने झुकता था...Read More

प.पू. आसारामबापू के संदर्भ में कुछ हिंदूद्वेषी समाचार प्रणालों द्वारा उपस्थित किए प्रश्नो का खंडन।

अक्तूबर 30, 2014
प.पू. आसारामबापू के संदर्भ में कुछ हिंदूद्वेषी समाचार प्रणालों द्वारा उपस्थित किए प्रश्नो का खंडन। १. प.पू. आसारामबापू सत्संग में संगी...Read More

किशोरावस्था शिक्षा जरूरी क्यों?

अक्तूबर 30, 2014
किशोरावस्था शिक्षा जरूरी क्यों? किशोरावस्था शिक्षा विद्यार्थियों के किशोरावस्था के बारे में जानकारी प्रदान करने की आवश्यकता के सन्दर्भ मे...Read More

किशोरावस्था की प्रवृतियां एवं लक्षण।

अक्तूबर 30, 2014
किशोरावस्था की प्रवृतियां एवं लक्षण। मानव विकास की चार अवस्थाएं मानी गयी हैं बचपन, किशोरावस्था, युवावस्था और प्रौढावस्था। यह विकास शारीर...Read More

किशोरावस्था मेँ व्यवहारिक परिवर्तन।

अक्तूबर 30, 2014
किशोरावस्था मेँ व्यवहारिक परिवर्तन। उपयुक्त परिवर्तनों के कारण किशोरों के व्यवहार में निम्न लक्षण उजागर होते हैं - अ)स्वतन्त्रता शारीरिक...Read More

श्री रामचन्द्र जी: गुरुदेव, पुरुषार्थ क्या है?

अक्तूबर 29, 2014
श्री रामचन्द्र जी: गुरुदेव, पुरुषार्थ क्या है? ब्रह्म ऋषि श्री वशिष्ठ जी बोले.... पुरुषार्थ यह है कि संत का संग करे और सतशास्त्रों का विचार...Read More

जो गुरु-आज्ञा के जितने करीब होते हैं, उतने वे खुशनसीब होते हैं।

अक्तूबर 29, 2014
जो गुरु-आज्ञा के जितने करीब होते हैं, उतने वे खुशनसीब होते हैं। (पूज्य बापू जी के सत्संग प्रवचन से) पूज्य मोटा सन् 1930 में स्वतंत्रता संग्...Read More

कैसे करें नूतन वर्ष का स्वागत? पुण्यमय दर्शन व बलि प्रतिपदा (वर्ष के प्रथम दिन)।

अक्तूबर 29, 2014
कैसे करें नूतन वर्ष का स्वागत? पुण्यमय दर्शन व बलि प्रतिपदा (वर्ष के प्रथम दिन)। बलि प्रतिपदा (वर्ष के प्रथम दिन) * पहले के जमाने में ग...Read More

सतगुरू वचन। - १०

अक्तूबर 29, 2014
यदि आप किसी को एक कौडी भी न दें, कुछ भी शारीरिक सेवा न करे, केवल प्यार से, सच्चे और साफ दिल से उसके प्रति प्रसन्नता भरी मुस्कान से हँस दें,...Read More

व्यापारी लाभ के साथ वास्तविक लाभ पाने का दिन : लाभपंचमी।

अक्तूबर 29, 2014
व्यापारी लाभ के साथ वास्तविक लाभ पाने का दिन : लाभपंचमी। कार्तिक शुक्ल पंचमी ‘लाभपंचमी कहलाती है । इसे ‘सौभाग्य पंचमी भी कहते हैं । जैन ...Read More

राजा पदम् और लीलावती संवाद। संत श्री आशारामजी बापू के सत्संग प्रवचन से।

अक्तूबर 29, 2014
राजा पदम् और लीलावती संवाद । संत श्री आशारामजी बापू के सत्संग प्रवचन से। योगवशिष्ठ सिद्धांत ग्रन्थ है। लीलावती की कथा पूरी करते-करते बीच...Read More

दीपावली :- सनातन धर्म के सर्वशेष्ट त्यौहार मेँ से एक।

अक्तूबर 23, 2014
॥ॐ॥ शुभ दीपावली ॥ॐ॥ सभी को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाऐँ। हम सब को बल, बुद्धि, ज्ञान, भक्ति और वैराग्य मिलता रहे यही भगवान से प्रार्...Read More

श्री गौमाता प्राकट्य दिवस (गौ माता जन्मोत्स्व) की हार्दिक शुभकामनायें।

अक्तूबर 23, 2014
श्री गौमाता प्राकट्य दिवस (गौ माता जन्मोत्स्व) की हार्दिक शुभकामनायें। आज श्री कार्तिक अमावस्या ( दीपावली ) की सुबह...Read More

दीपावली मेँ मिट्टी के दीपकोँ का प्रयोग, कारण तथा वास्तविकता क्या है ?

अक्तूबर 21, 2014
दीपावली मेँ मिट्टी के दीपकोँ का प्रयोग, कारण तथा वास्तविकता । दीप, दीपक, दीवा या दीया वह पात्र है जिसमें सूत की बाती और तेल या घी रख कर ज...Read More

नरक चतुर्दशी पर करने योग्य यमतर्पण एवं अन्य धार्मिक विधियाँ क्या क्या हैँ ?

अक्तूबर 21, 2014
नरक चतुर्दशी पर करने योग्य यमतर्पण एवं अन्य धार्मिक विधियाँ । १. अभ्यंगस्नानके उपरांत की जानेवाली महत्त्वपूर्ण धार्मिक विधि, यमतर्पण श्री...Read More
Blogger द्वारा संचालित.